728x90 AdSpace

  • Latest News

    Saturday, August 20, 2011

    आपके वेबसाइट बनाने से संबधित सवाल हमारे जवाब

     जिस  दिन  से मैंने गूगल एडसेंस के बारे मैं लेख लिखा है बहुत से सवाल हमारे ब्लोगर भाई बहन मुझ से  पूछ रहे हैं.  सबको अलग अलग जवाब देना मेरे लिए संभव नहीं हो प् रहा है . इसलिए आज सोंचा सबको   इस लेख के ज़रिये जवाब दे दूं . इस से दूसरे ब्लॉगर का भी फायदा  हो सकेगा.

     सवाल1:  गूगल एडसेंस को approve कैसे करवाएं?

    जवाब: गूगल एडसेंस पे खुद को रजिस्टर करने के लिए आप के पास एक अंग्रेजी का ब्लॉग या वेबसाइट होनी चाहिए, आप को अपना मोबाइल नम्बर भी  देना होगा. रजिस्टर करने के बाद १ से दो दिन मैं आप के पास गूगल से मेसज approve होने का आ जाएगा. उसके बाद ही आप अपने ब्लॉग पे एडसेंस का कोड लगा सकते हैं.

    ध्यान रहे आप खुद अपने एडसेंस के विज्ञापन पे क्लिक नहीं करें.

    सवाल २ : क्या यह कोड एक ही वेबसाइट पे लगा सकते हैं जिसपे यह approve हुआ नहीं?


    सवाल ३: ब्लॉग या वेबसाइट कैसे बनाएं जिसपे गूगल एडसेंस काम करे?
     
    जवाब: ब्लॉग बना ने के लिए आप ब्लॉगर या वर्डप्रेस पे अपना ब्लॉग बना सकते हैं. लेकिन वर्डप्रेस मैं डोट कॉम जो फ्री है गूगल एडसेंस कि इजाज़त नहीं देता .इसलिए यदि आप गूगल एडसेंस वर्डप्रेस पे लगाना चाहते हैं तो आप को paid website का सहारा लेना होगा.

    सवाल ४ : वर्डप्रेस paid वेबसाइट या ब्लोगर डोमेन के साथ बना ने मैं कितना खर्चा आता है?
     
    जवाब: ब्लोगर डोमेन के साथ १०००/- setup के साथ और वर्डप्रेस paid वेबसाइट (होस्ट और डोमेन) का खर्चा २५००/- सालाना आ सकता है.
    (यह रेट कम और अधिक दोनों हो सकता है यदि कोई professional इसे करता है तो)

    सवाल ५: क्या वर्डप्रेस paid वेबसाइट (होस्ट और डोमेन) को एक आम इंसान जिसको तकनिकी जानकारी नहीं है बना सकता है?

    जवाब: हाँ एक बार setup हो जाने  के बाद कोई भी इसे चला सकता है जिसे कम से कम ई - मेल करना आता है.

    सवाल  ६ : कुछ लोगों ने पूछा मैं आप को अपना पासवर्ड दे देता हूँ आप वेबसाइट भी बना दें और गूगल एडसेंस भी लगा दें?
     
    जवाब: बहुत से लोगों के लिए यह काम करना मुझे अकेले के लिए संभव नहीं. जब्को मैंने ५ ब्लोगर का यह काम किया है. हाँ मैं आप को सस्ते मैं यह काम कैसे किया जा सकता है अवश्य बताने मैं सहायता कर सकता हूँ. आप ई मेल कर सकते हैं.

    सवाल ७ : क्या १०००/- या २५००/- साल का वेबसाइट बनाने मैं लगा के इससे अधिक गूगल एडसेंस  से कमाया जा सकता है?

    जवाब: जी हाँ बहुत आसानी के साथ यदि आप कि अंग्रेजी कि वेबसाइट या ब्लॉग है और हर दिन कम से कम  १०० या १५० लोग आया करते हैं.

    सवाल ८: क्या गूगल एडसेंस जैसी और भी कमाई का साधन है वेबसाइट से?
     
    जवाब: हाँ यदि आप कि वेबसाइट पे अधिक लोग आते हैं तो.

    इसलिए ब्लॉग या वेबसाइट पे ऐसे लेख़ या बातें बताएं कि अधिक से अधिक लोग आयें और फिर आप आसानी से १००००/- २००००/- तो सालाना बिना बहुत समय दिए कमा ही  सकते हैं.

    आशा है आप को अपने सवालों के जवाब मिल गए होंगे. कोई और सवाल हो तो अवश्य पूछें.



    Earn Online by selling Indian products
    • Blogger Comments
    • Facebook Comments

    10 comments:

    POOJA... said... August 20, 2011 at 11:33 PM

    wow...
    grt info collection for everyone interested in making or earning from blog or site...

    DR. ANWER JAMAL said... August 21, 2011 at 6:20 AM

    I ♥ it .

    आप ऐसी तकनीक बता रहे हैं जिससे हिंदी ब्लॉगर्स को माल मिले और आपके विरोधी आज तक इसी जुगत में मर खप रहे हैं कि ...
    पूरी बात बताएगा हमारा यह लेख -
    ब्लॉग जगत का नायक बना देती है ‘क्रिएट ए विलेन तकनीक‘ Hindi Blogging Guide (29)

    Ratan Singh Shekhawat said... August 21, 2011 at 9:44 AM

    वर्डप्रेस वेब साईट बनाना बहुत आसान है फिर भी किसी को दिक्कत हो तो way4host.com पर वेब होस्टिंग लेने वालों के लिए वर्डप्रेस इंस्टालेशन फ्री में है|
    यही नहीं वेफॉरहोस्ट.कॉम सिर्फ १०५० रु. में डोमेन के साथ वेब होस्टिंग उपलब्ध कराती है|
    way4host

    सतीश सक्सेना said... August 21, 2011 at 5:02 PM

    यह ब्लॉग बहुतों की मदद करेगा मासूम भाई ! शुभकामनायें आपको !

    Bhushan said... August 21, 2011 at 6:11 PM

    इससे कई ब्लॉगर्ज़ को लाभ होगा. आभार.

    pankaj vyas said... August 21, 2011 at 7:02 PM

    bahoot hi upayogi...

    डॉ. मनोज मिश्र said... August 22, 2011 at 2:43 PM

    अच्छी जानकारी,आभार.

    Bhushan said... August 27, 2011 at 10:43 PM

    जन लोकपाल के पहले चरण की सफलता पर बधाई.

    Item Reviewed: आपके वेबसाइट बनाने से संबधित सवाल हमारे जवाब Rating: 5 Reviewed By: M.MAsum Syed
    Scroll to Top